Category Archives: Social issue

PLASTIC THE POLLUTANT

By | July 24, 2021

PLaStiC tHE poLLuTanT. According to Nas Daily, 300 millions tons of plastics are produced every year. 50% of that is for single use as is the case with bottles. Plastics has become one of the worst pollutant problems in the world. The plastic waste fills garbage dumps, slums, city streets, beaches, rivers, our forest and increasingly larger areas… Read More »

Equal world with equal opportunities

By | July 12, 2021

By SHREYA SHUKLAThe story is all about Daniel Mendonca, a proud intersex who represents LGBTIQ in the United States, and speaks in different TED X events. Intersex people are individuals born with any of several variations in sex characteristics including chromosomes, gonads, sex hormones or genitals that do not fit the typical definitions for male or female bodies.… Read More »

स्त्री और पुरूष एक ही सिक्के के दो पहलू हैं?

By | July 10, 2021

By Shreya Shukla स्त्री और पुरुष एक ही सिक्के के दो पहलू हैं, जिनके विकास की बात एक के बिना करना मिथ्या सिद्ध होगा|लेकिन सवाल यह उठता है कि यदि ज़िन्दगी के दोनों पहियों को बराबर लाने के लिए कोई कदम उठाए जाते हैं तो एक पहिया अपने अहंकार को बरतते हुए चलना ही क्यों छोड़ देता है।… Read More »

*यदि हम थर्ड जेंडर है तो फ़र्स्ट कौन?*

By | July 8, 2021

BY SHREYA SHUKLA \”स्त्री और पुरुष समाज निर्माण का मुख्य स्रोत हैं\” यह कहते तो सबने सुना होगा| \’समानता का अधिकार,समानता\’ इन सभी शब्दों को सब ने गंभीरता से लेते हुए अक्सर स्त्रियों और पुरुषों की समानता की बात की होगी। लेकिन इन सबके बीच जो अक्सर हम भूल जाते हैं, या यूं कहें कि जिसकी बराबरी से… Read More »

देह व्यापार: एक कदम वास्तवीकरण की ओर

By | July 8, 2021

देह व्यापार: एक कदम वास्तवीकरण की ओर – BY SHREYA SHUKLA आज 21वीं सदी में नारीवाद की बात तो सब करते हैं नारी और पुरुषों की समानता की बात करते हैं| लेकिन नारीवाद की होड़ में बढ़ रहे नारी वास्तुविकरण का क्या ? युगो से ही स्त्री के वस्तुकरण का प्रमाण हमें मिलता है| फिर चाहे वह देह… Read More »